• एमडीएल गान
Your Language:
  • English(English (United States))
  • Hindi (हिंदी (भारत))

आधुनिकीकरण

माझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) ने माझडॉक आधुनिकीकरण परियोजना (एमएमपी) के माध्‍यम से अपने बुनियादी ढांचा की उन्‍नति सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है जिसमें न्‍यु वेट बेसिन, हेवी ड्यूटी गोलिएथ क्रेन, मॉडूल वर्कशॉप, क्रेडल एसेम्‍बली शॉप, स्‍टोर बिल्डिंग तथा संबद्ध सहायक संरचना शामिल हैं।

एमडीएल का लक्ष्‍य युद्धपोत और पनडुब्‍बी निर्माण में समेकित मॉडुलर निर्माण की सहायता से निर्माण अवधि में कमी के द्वारा आदर्श परिवर्तन लाना है। आधुनिकीकरण के बाद, एमडीएल की पोत निर्माण क्षमता वर्ष 2014 से 8 युद्धपोत निर्माण से बढ़कर 10 युद्धपोत तथा पनडुब्‍बी निर्माण में 6 पनडुब्बियों से बढ़कर 11 पनडुब्बियाँ वर्ष 2016 से हो गई है।

कांहोजी आंग्रे वेट बेसिन:

नया वेट बेसिन में 4 लेवेल लफिंग क्रेन्‍स स्थापित किए गए हैं। यह सिविल इंजिनियरिंग का एक चमत्कार हैं। इसे समुद्री परिसर के रूप में निर्मित किया जिसमें 27000 वर्ग मीटर का वर्थिंग स्पेस हैं। इसमें बड़े आकार के दो युद्धपोत और दो पनडुब्बियों की बाह्यसज्जा के लिए स्थान है।

माडूल वर्कशाप:

माडूल वर्कशाप का निर्माण लगभग 6000 वर्ग किलो मीटर में किया गया जिसमें 50 टन की दो ईओटी क्रेन लगी हुई है और बृहद हल ब्‍लॉक की संरचना के लिए रिट्रैक्‍टेबल रूफ का रूपांकन किया गया है। वास्‍तव में कवर्ड इनवीरामेन्‍ट के भीतर पुर्व बाह्य सज्‍जा की जा सकती है जिसमें बाह्य सज्‍जा मूल प्रतिशत 35% से 65% तक बढ़ाया जा सकता है जिसके कारण निर्माण अवधि में महत्‍वपूर्ण कमी होगी साथ ही सुधारित गुणवत्‍ता के साथ कर्मचारियों के लिए बेहतर कार्य वातावरण होगा।

गोलिएथ क्रेन:

हेवी ड्यूटी गोलिएथ क्रेन की उदवाहन क्षमता 300 टन है और यह दो पायों पर दो स्‍लीपवेस और माडुलशाप के बीच 138 मीटर में फैला हुआ है। यह क्रेन फेटूर से सुसज्जित है जो माडूल के ओवरटर्निंग में पोत के बड़े ब्‍लॉक के निर्माण की जिम्‍मेदारी पूरा करता है और इससे निर्माण अवधि में विशेष रूप से कमी होती है।

क्रेडल एसेम्‍बली शाप:

क्रेडल एसेम्‍बली शॉप (सीएएस) के साथ स्‍टोर बिल्डिंग का निर्माण पनडुब्बियों के निर्माण कार्यक्रम के अंश में किया गया है। सीएएस का प्रयोग यूनिट ब्‍लॉक में क्रेडल स्‍ट्रक्‍चर के निर्माण एवं पूर्व बाह्य सज्‍जा के निर्माण के लिए किया जा रहा है। स्‍टोर बिल्डिंग ऑटोमैटिक रीट्रीइवल प्रणाली हेतु प्रावधान तथा नियंत्रित पर्यावरण के अंतर्गत सेंसीटिव सोफिस्‍टीकेटेड कम्‍पोनेंट्स हेतु भंडारण सुविधा सीएएस में अनुलग्‍न किया गया है।

एसएसए कार्यशाला:

पनडुब्‍बी निर्माण क्षमता में वृद्धि 9,900 वर्ग मीटर में अतिरिक्‍त पनडुब्‍बी अनुभाग एसेम्‍बली, वर्कशाप के निर्माण द्वारा बढ़ाई गई है। कार्यशाला में दो बेज है जो दो स्‍तरीय ईओटी क्रेन (30टी) के साथ-साथ सेमी गोलीएथ क्रेन (60टन/150टन), से सुसज्जित हैं ये संरचना निर्माण सुगमता के साथ-साथ एक साथ पनडुब्‍बी इकाइयों को एकत्रित करने में सहायता करेगी। कार्यशाला के भीतर ब्‍लास्टिंग और पेंटिग चैम्‍बर का निर्माण किया गया है। जो पनडुब्‍बी अनुभाग को सफाई, ब्‍लास्टिंग और पेंटिग करने में सहायता प्रदान करते हैं। कार्यशाला वर्ष 2016 से परिचालन में है।

तट एकीकरण सुविधा (एसआईएफ):

तट एकीकरण सुविधा (एसआईएफ) का निर्माण जहाज निर्माण और पनडुब्‍बी प्रभाग के लिए अलग-अलग जिससे विभिन्‍न उपकरण प्रणालियों का अनुकरण और एकीकरण बोर्ड पर फिटमेन्‍ट से पहले किया जाता है। वास्‍तविक उपकरण, केबल्‍स और कनेक्‍टर्स का उपयोग एसआईएफ में महत्‍वपूर्ण इलेक्‍ट्रानिक उपकरणों को सक्रिय रखने के लिए किया जाता है। इस अद्वितीय सुविधा ने युद्धपोतों की निर्माण अवधि घटाने और विशेष रूप से पनडुब्‍बी परीक्षण समय में कम करने में सहायता मिलेगी।

 

पृष्ट अपडेड की अंतिम तिथि १५/११/२०१७

समवाय कार्मिक

  • माझगाव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड,
    डॉकयार्ड रोड, माझगांव,
    मुंबई - ४०० ०१०, भारत
  • दूरभाष सं. :
    बोर्ड: २३७६ २०००, २३७६ ३०००,
    2376 4000

अन्य लिंक

आगंतुकों काउंटर
Copyright © एमडीएल. सर्वाधिकार सुरक्षित. Crafted & Cared by Web Design, SEO, Digital Marketing Company in Pune, India - IKF